Fresh snowfall in uttarakhand, himachal and kashmir


नई दिल्ली: पहाड़ों पर ताजा बर्फबारी (Snowfall) हुई है. उत्तराखंड (Uttarakhand) से लेकर कश्मीर घाटी (Kashmir) में बर्फ की सफेद चादर बिछी हुई है. बर्फबारी उत्तराखंड के लिए वरदान लेकर आई है, एक तरफ नैनीताल में सैलानियों ने डेरा डाला हुआ है, तो दूसरी तरफ औली की बर्फीली वादियां नए रोमांच के लिए तैयार हैं. और खिलाड़ियों का स्वागत कर रही हैं. औली में 7 फरवरी से नेशनल स्कीइंग चैंपियनशिप शुरू होने वाली है. जिसके लिए सारी तैयारियों को आखिरी टच दिया जा रहा है.

पिथौरागढ़ के की ऊचीं चोटियों में एक बार फिर से बर्फबारी हुई है. लगातार हो रही बर्फबारी से मुनस्यारी का जनजीवन पूरी तरह अस्त व्यस्त हो गया है. यहां बर्फबारी के चलते क्षेत्र में बिजली और पानी का संकट गहरा गया है. थल-मुनस्यारी रोड एक बार फिर से बन्द हो गई है. जिससे मुनस्यारी का संपर्क देश से कट गया है. 

ये भी पढ़ें: हिमाचल में भारी बर्फबारी, मंडी में बंद किए गए नेशनल हाइवे, बिजली आपूर्ति हुई बाधित

हिमाचल की राजधानी शिमला और पास के मनाली में हुई ताजा बर्फबारी से न सिर्फ पहाड़ी राज्य में, बल्कि निचले मैदानी इलाकों के तापमान में भी गिरावट आई है. शिमला जिले में ऊपरी कस्बों में सड़कों पर बर्फ का ढेर होने के कारण सुबह यातायात आंशिक रूप से बाधित हुआ. हालांकि, बर्फबारी से रिसॉर्ट और इसके आसपास के क्षेत्रों का नजारा बेहद खूबसूरत हो गया.

https://zeenews.india.com/

पर्यटन नगरी धर्मशाला के पर्यटन क्षेत्र, धर्मकोट, भागसूनाग, नड्डी, स्तोबरी एक बार फिर से बर्फबारी से गुलजार हो गए हैं, लगातार तीसरी बार इन पर्यटन स्थलों पर बर्फबारी हुई है. हालांकि पहली 2 मर्तबा यहां महज 1 से 3 इंच तक बर्फबारी हुई लेकिन अबकी बार ये रिकॉर्ड टूट रहा है चूंकि बर्फबारी आधी रात से ही जारी है, हालांकि धर्मशाला में अभी भी बर्फबारी की बजाय बारिश की ही फुहारें गिर रही हैं. लेकिन उम्मीद है कि पिछली बार की तरह इस बार भी धर्मशाला में बर्फबारी के दीदार हो सकते हैं. 

फिलहाल धर्मशाला में तापमान लुढ़ककर, 1 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच चुका है. जबकि अपर धर्मशाला में यही तापमान माइनस में चला गया है यही वजह है कि यहां अब बर्फबारी हो रही है. इसके साथ ही कांगड़ा घाटी पूरी तरह से ठंड के आगोश में जा चुकी है. लोग ठंड से बचने के लिए आलाव और हीटर का सहारा ले रहे हैं. 

https://zeenews.india.com/

उधर, वैष्णों देवी तक जाने वाले रास्तों पर बर्फ ही बर्फ है. हरा-भरा इलाका अब सफेदी में तब्दील हो चुका है. सोमवार रात से राजौरी, पुंछ के पीरपंजाल पहाड़ों के साथ माता वैष्णो देवी की त्रिकुटा पहाड़ियों पर बर्फबारी हो रही है. लेकिन बर्फबारी भी माता वैष्णो देवी के दर्शन को आ रहे श्रद्धालुओं के कदमों को रोक नहीं सकी है. बड़ी तादाद में श्रद्धालु माता के दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं. 2 दिनों में 20 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने माता के दर्शन किए हैं.





Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: